A Step Towards Swachh Bharat

 

See what we’re all about

Swachh Bharat
Swachh Bharat
Swachh Bharat
 

स्वच्छता के दिशा में हमारा पहला कदम …

कहते है कागज के टुकड़े को वही पिन चुभता है जो उसे जोड़ कर रखता है l ठीक उसी तरह हमें भी समाज में वही समुदाय अच्छे नहीं लगते जो समाज को स्वच्छ और स्वस्थ रखने में अपना सब कुछ लुटा देते हैं l . हां मैं बात कर रहा हूँ समाज में रह रहे और समाज को आगे ले जाने के दिशा में निरंतर काम करने वाले सफाई सेवक की l

जितने सम्मान के हक़दार हमारे समाज के सफाई सेवक है शायद हम उन्हें उसका १ % भी देने में असफल है l हमारे नजरों में उनके लिए एक स्थान है और वह स्थान शायद सबसे नीचे है. एक सही राजनेता का क्या काम है ? एक पहल टीम के अनुसार एक सही राजनेता का यह बिलकुल काम नहीं कि वह अपने समाज के तथाकाहित पिछले वर्ग के घर जाकर खाना खाये बल्कि उनका काम यह है कि जब वह अपने घर में बैठकर खाना खाये तो यह सोचे कि उनके समाज के सभी वर्गों ने खाना खाया या नहीं. 
एक पहल टीम ने साल २०१७ की दीपावली ऐतिहासिक तौर पर मानाने के लिए एक कदम रखी और बिहार के अररिया जिला के फॉरबिसगंज अनुमण्डल के नगरपालिका में कार्यरत लगभग 200 सफाई सेवकों को सम्मानित करते हुए उन्हें उनके कामों के लिए प्रेरित किया. एक पहल टीम के इस सम्मान समारोह का थीम था “सामान के साथ सम्मान भी देना होगा”. जहाँ तक बात है सफाई अभियान की तो स्वच्छता सभी को चाईए परन्तु सफाई सेवक किसी को नहीं. समारोह में आये सभी सफाई सेवकों को एक टीम टीम ने फॉरबिसगंज समाज की मदद से नए कपडे, मिठाई और धनतेरस मानते हुए उन्हें एक एक नया स्टील की जग सम्मान के साथ प्रदान किया और उन्हें भी समाज के गणमान्य नागरिकों के बीच सम्मान के साथ खड़े होने का अवसर दिया.
सफाई सेवक का सम्मान करना एक पहल टीम के अनुसार इसलिए आवश्यक था क्यूंकि वही समाज के एक ऐसे सेवक है जिन्हे न तो कभी प्यार से दो बात बोली जाती है और न ही उनके लिए समाज में रह रहे लोग उनको समाज सेवक के तौर पर देखते है. एक पहल टीम सफाई सेवक को समाज का सबसे बड़ा सेवक मानता है और जो इतनी सेवा हमारे लिए करते है तो उनका सम्मान करना हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि के समान है. इतना ही नहीं एक पहल टीम ने वह पधारे सभी सफाई सेवक के साथ भोजन भी ग्रहण किया और सम्मान सहित सारे सदस्य ने उनको बैठाकर उनके प्लेट में भोजन परोसा. इसके साथ साथ अररिया जिला में आये बढ़ से प्रभावित लगभग ५०० लोगों के बीच भी हमने फॉरबिसगंज समाज की मदद से कपड़ों का वितरण किया और साथ ही उनके मुख में मिठास भी घोली.

सम्मान समारोह का संचालन शिवानी अग्रवाल ने किया और समारोह की शुरुवात समाज के गणमान्य नागरिकों, सफाई सेवकों और एक पहल के संस्थापक के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया. समारोह को आगे बढ़ाते हुए संस्थापक आयुष अग्रवाल ने सफाई सेवकों की जिन्दगी पर प्रकाश डाला और उन्हें एक पहल टीम का हर संभव मदद मिलने का भरोसा दिलाया . इतना ही नहीं श्री अग्रवाल ने कहा :

सरहद पर तो जो न सके पर अपना फ़र्ज़ निभाते है 
अस्वछता नामक शत्रु से भारत देश बचाते है 
एक पल वतन के इनके नाम करता हूँ 
जो सड़क नाले साफ़ करते उन्हें सलाम करता हूँ .

साथ ही साथ उन्होंने कहा की इस सम्मान समारोह को भारत के हर राज्यों तक एक पहल ले जाने का हर संभव प्रयास करेगी. समारोह में उपस्थित सफाई सेवकों के साथ साथ नप की मुख्य पार्षद सुनीता जैन, उपमुख्य पार्षद मोती खान, कर्नल अजित दत्त, अग्रवाल महिला मंच की कामिनी गोयल, संगीता अगवाल, सुनीता गोयल, अनीता गोयल ,राजकुमार अग्रवाल, अजातशत्रु अग्रवाल, सफाई सेवक प्रधान सोनू जी, वीणा देवी, दिलीप अग्रवाल, विशाल गोलछा, पूनम पांडिया, कार्तिक सिंह, जेनिथ पब्लिक स्कूल के संस्थापक खुर्शीद आलम ने एक पहल के द्वारा लिए गए कदम को सराहते हुए भविष्य में हर संभव मदद मिलने की बात कही.

अगर एक पहल टीम ने फॉरबिसगंज में एक अनूठी पहल की तो इसके पीछे फॉरबिसगंज समाज के साथ साथ रौनक जैन, मुकुल आनंद, नेहा अग्रवाल, निकिता अग्रवाल, ऋत्विज भास्कर, आयुष जैन, कोमल बोथरा, कार्तिक सिंह, यश जैन, अभिषेक अग्रवाल, अभिषेक भगत, अमन अग्रवाल, मीर फैज़, शुभम सेठिया, शुभम अग्रवाल, साक्षी अग्रवाल, रिया अग्रवाल, विवेक राज और अन्य ने अपना भरपूर योगदान दिया.